गले, छाती और कमर पर तिल का मतलब ( गले पर तिल )

गले, छाती और कमर पर तिल का मतलब ( गले पर तिल )

gale par til ka hona

गले पर तिल का मतलब

 gale par til ka hona

गले पर तिल होने का बहुत ही बड़ा मतलब होता है। जिस व्यक्ति के गले पर तिल होता है वह आरामतलब करने वाला होता है। जिस व्यक्ति के गले पर सामने की ओर तिल होता है  उस व्यक्ति के मित्र अधिक होते हैं और सारे मित्र सच्चे होते हैं मित्रता निभाने वाले होते हैं और अगर किसी व्यक्ति के गले के पीछे की ओर यानी गर्दन पर तिल होता है तो वह व्यक्ति मेहनत करने वाला होता है और उसे उस मेहनत का फल भी प्राप्त होता है।

Read Also :  भौंहों एवं आंख की पुतली पर तिल होने का मतलब ( आंख पर तिल )

छाती पर तिल का मतलब

 

छाती पर तिल होना बहुत ही शुभ माना जाता है। अगर किसी व्यक्ति की छाती की दाहिनी और तिल होता है तो वह बहुत ही शुभ होता है और अगर किसी स्त्री की दाहिनी ओर तिल होता है तो वह अनुरागी होती है और जिस पुरुषों के छाती पर दाहिनी ओर तिल होता है वह बहुत भाग्यशाली होते है। और अगर किसी व्यक्ति की छाती पर बाई और तिल होता है तो उसे भार्या पक्ष की ओर से असहयोग ही मिलता है और किसी व्यक्ति की छाती के मध्य में तिल होता है यानि बीच में होता है तो सुखमय जीवन व्यतित करता है और यदि किसी स्त्री के हृदय पर तिल होता है तो वह बहुत भाग्यशाली होती है उसका भाग्य बहुत मजबूत होता है। ( gale par til ka hona )

Read Also :  कान, नाक व होंठ पर तिल का महत्व ( होंठ पर तिल )

कमर पर तिल का मतलब

 gale par til ka hona

अगर किसी व्यक्ति की कमर पर तिल होता है तो उसे परेशानियों का सामना करना पड़ता है वह अपनी पूरी जिंदगी में परेशानियां से लड़ता रहता है। ( gale par til ka hona )

other post
कच्चा प्याज खाने के फायदे 
हाथों पर तिल का महत्व

2 thoughts on “गले, छाती और कमर पर तिल का मतलब ( गले पर तिल )

Leave a Reply