‪‪Gudi Padwa 2019 (Happy Ugadi 2019) : क्या आप जानते हैं गुड़ी पड़वा क्यों मनाया जाता है ?

Gudi Padwa : क्या आप जानते हैं गुड़ी पड़वा क्यों मनाया जाता है ?

Gudi Padwa‬, ‪Ugadi (Gudi Padwa)‬, ‪Rangoli

18 मार्च को देश में नवरात्रि की शुरुआत होगी चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा लगने के साथ ही हिंदू नव वर्ष का आरंभ हो जाता है और इसके साथ-साथ महाराष्ट्र के लोग गुड़ी पड़वा का त्योहार बहुत धूमधाम से मनाते हैं गुड़ी पड़वा हर साल चैत्र मास की नवरात्रि के पहले दिन से शुरू हो जाता है गुड़ी का मतलब होता है विजय पताका और पड़वा का मतलब होता है शुक्ल पक्ष का पहला दिन इस दिन को बहुत ज्यादा शुभ दिन माना जाता है और इस शुभ मुहूर्त पर कोई शुभ कार्य भी किया जाता है।(Gudi Padwa‬, ‪Ugadi (Gudi Padwa)‬, ‪Rangoli‬‬)

गुड़ी पड़वा का त्यौहार महाराष्ट्र के अलावा आंध्र प्रदेश, गोवा और तेलंगाना इन सभी राज्यों में अलग-अलग नामों से मनाया जाता है गुड़ी पड़वा के दिन लोग अपने घर के मुख्य दरवाजे पर पताका लगाते हैं और दरवाजे को आम पत्तों  से तोरण द्वार बनाते है।

Read Also :  जबड़े, कोहनी और कंधे पर तिल का महत्व

गुडी पाडवा महत्व:-

गुड़ी पड़वा मनाने के पीछे कई मान्यताएं छुपी हुई है एक कथा के अनुसार भगवान राम ने लंका में रावण का वध किया था और वापस लौटे थे इस दिन ब्रह्राजी ने सृष्टि का निर्माण किया था और इसी दिन सृष्टि में जीवन की शुरुआत हुई थी जिसके कारण इस दिन को शुभ माना जाता है और धूमधाम से मनाया जाता है।

Gudi Padwa‬, ‪Ugadi

इसके अलावा गुड़ी पड़वा के दिन महान गणितज्ञ भास्कराचार्य ने पंचांग की रचना भी की थी इस पंचांग में सूर्योदय से सूर्यास्त, दिन और महीने शामिल थे। साल भर में हिंदू संस्कृति में सनातन धर्म में 3 सबसे महत्वपूर्ण मुहूर्त होते हैं जिसमें से एक गुड़ी पड़वा को माना जाता है और धूमधाम से मनाया जाता है।

Read Also :  सुबह उठते ही करने चाहिए अपनी हथेलियों के दर्शन, जानिए क्यों ?

यह त्यौहार बहुत ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है इस त्यौहार को लोग मीठी रोटी बनाते हैं जिसे पूरनपोली भी कहते हैं इसे बनाने में गुड़, नमक और नीम के फूल और इमली का इस्तेमाल किया जाता है और इस त्यौहार को खास तौर पर नीम की दातुन का इस्तेमाल किया जाता है और नीम की पत्तियों को खाया जाता है लोगों का यह मानना है कि नीम की पत्तियां खाने से सारी कड़वाहट दूर हो जाती है।

Leave a Reply