एसिडिटी का इलाज, कारण, लक्षण, उपचार

acidity ka ilaaj

 

हम जब भी खाना खाते हैं तो उसको पचाना बहुत जरूरी होता है। जब हम खाना पचाते हैं तो पेट में एक ऐसा एसिड स्रावित होता है जो हमारे पाचन के लिए बहुत जरूरी होता है लेकिन कई बार यह एसिड जरूरत से अधिक स्रावित हो जाता है। जिसके चलते हमारी छाती में जलन महसूस होती है और पेट में दर्द की समस्या होती है इस स्थिति को एसिडिटी या गैस की समस्या कहते हैं।

एसिडिटी होने के कारण :-

  • खानपान में असंतुलन पैदा होने से ।
  • खाने को चबा चबाकर नहीं खाने से ।
  • पानी कम पीने से ।
  • जंक फूड व अधिक मसालेदार खाने से ।
  • जल्दी में और तनाव में भोजन करने से ।
  • सुबह का नाश्ता न करने से और लंबे समय तक भूखे रहने से ।
  • शराब का सेवन अधिक करने से ।
  • ज्यादा दवा खाने से।

एसिडिटी के लक्षण :-

  • पेट में जलन होना
  • सीने में जलन होना
  • मतली का रोग होना
  • जरूरत से ज्यादा डकार आना
  • खानपान कम ग्रहण करना

एसिडिटी का इलाज :-

  • अदरक का रस – नींबू और शहद में अदरक का रस मिलाकर पीते हैं तो आपको एसिडिटी से राहत मिलेगी ।
  • अश्वगंधा – अगर आपको भूख नहीं लगती हो और आपके पेट में जलन की समस्या से परेशान हो तो आपको अश्वगंधा का सेवन करना चाहिए ।
  • बबूना – बबूना पेट की जलन को कम करने का रामबाण इलाज है ।
  • चंदन – चंदन आपको एसिडिटी से राहत दिलाता है चंदन के और भी बहुत सारे आयुर्वेदिक लाभ बताए गए हैं ।
  • चिरायता –  चिरायता के उपयोग से आप एसिडिटी से राहत पा सकते हैं चिरायता दस्त ठीक करने का काम भी करता है ।
  • इलायची – सीने की जलन को ठीक करना चाहते हैं तो आपको इलायची का सेवन करना चाहिए पेट की जलन और एसिडिटी का खात्मा करता है ।
  • लहसुन – पेट में कोई भी बीमारी खत्म कर देता है इसलिए आपको लहसुन का प्रयोग करना चाहिए ।
  • मेथी – मेथी के पत्तों को पीसकर उसका सेवन करते हैं यह पेट की एसिडिटी को कम करने का इलाज है ।
  • सौंफ – आपको पेट की जलन की समस्या सता रही है तो आपको सौंफ का सेवन जरूर करना चाहिए सौंफ पेट की जलन, एसिडिटी और छाती की जलन को भी ठीक करता है।
Read Also :  मसल्स बनाने के लिए क्या खाये - build muscle fast

एसिडिटी के उपचार :-

  • अगर आपको एसिडिटी की शिकायत है तो आपको विटामिन बी और ई युक्त सब्जियों का सेवन अधिक करना चाहिए ।
  • आपको व्यायाम और शारीरिक योग करना चाहिए ।
  • खाना खाने के बाद आपको तरल का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • बादाम आपकी एसिडिटी को खत्म करने का काम करता है ।
  • आपको खीरा, ककड़ी और तरबूज का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए ।
  • अगर आप पानी में नींबू मिलाकर पीते हैं तो इससे एसिडिटी खत्म हो जाएंगे ।
  • आपको रोज पुदीने के रस का इस्तेमाल जरूर करना है ।
  • तुलसी के पत्ते भी एसिडिटी को खत्म करने का काम करते हैं ।
  • अगर आपको नारियल का पानी मिल जाए तो आपको इसका अधिक से अधिक सेवन करना है ।
  • शाह जीरा गैस को खत्म करता है डेढ़ लीटर पानी में दो चम्मच शाह जीरा डाल कर उसको 10 से 15 मिनट तक उबालना है यह काढ़ा आपको दिन में तीन बार पीना है जिससे आपको एसिडिटी से राहत मिलेगी ।
  • भोजन करने के बाद आपको गुड़ का सेवन करना है ।
  • सुबह उठते ही सबसे पहले आपको 2 से 3 गिलास पानी पीना है इससे आप की एसिडिटी खत्म हो जाएगी ।
  • दिन में दो से चार पत्ते तुलसी के चबाने चाहिए जिससे एसिडिटी नहीं होगी ।
  • एक गिलास पानी में दो चम्मच सौंफ डालकर उसको रात भर के लिए छोड़ दें सुबह उठकर उस पानी को छानकर उस पानी में एक चम्मच शहद डालकर पीने से एसिडिटी खत्म हो जाएगी ।
  • अगर आप आंवले का सेवन करते हैं तब भी आपकी एसिडिटी खत्म हो जाएगी।
  • पुदीने का रस और पुदीने का तेल दोनों ही एसिडिटी निवारण में हमारी सहायता करते हैं ।
  • फलों का उपयोग हम करते हैं तब भी हमारी एसिडिटी की समस्या खत्म हो जाएगी खासकर केला, तरबूज, ककड़ी और पपीते का सेवन करना है।
  • अब आपको 5 ग्राम लोंग और 3 ग्राम इलायची को लेकर उसका पाउडर बनाना है बाद में जब भी आप भोजन करते हैं उसके ठीक पश्चात एक चुटकी इस पाउडर का सेवन करना है ।
  • आपको दूध और दूध से बनने वाले पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करना है ।
  • अचार,सिरका, तलाहुआ भोजन, मिर्च मसालेदार चीजों का सेवन नहीं करना है ।
  • धूम्रपान छोड़ने का प्रयास करें क्योंकि धूम्रपान से भी एसिडिटी होती है ।
  • जब भी आप खाना खाते हैं तो आपको एक गिलास में एक नींबू निचोड़ लेना है और भोजन के बीच बीच में इसका सेवन करना है ।
  • आपको छाछ के अंदर हरे धनिए को मिलाकर इसका सेवन करना है ।
  • आपको हर सुबह 2 से 3 किलोमीटर दौड़ना है जिससे एसिडिटी खत्म हो जाएगी।

Leave a Reply