Basant Panchami 2019: सरस्‍वती पूजा महत्‍व और विशेष मंत्र…

Basant Panchami 2019:-

इस बार बसंत पंचमी का त्यौहार 10 फरवरी 2019 को मनाया जाएगा इस दिन विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा करने का विधान है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन मां सरस्वती पृथ्वी पर प्रकट हुई थी इसी खुशी में बसंत पंचमी का त्यौहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है और देवी सरस्वती की पूजा की जाती है।

इसलिए की जाती है मां सरस्वती की पूजा

इस दिन मां सरस्वती की पूजा इसलिए की जाती है कि जब सृष्टि की रचना हुई थी तब मां सरस्वती ने सभी को वाणी दी थी साथ ही यह भी माना जाता है कि इस सृष्टि की रचना ब्रह्मा जी ने की थी और साथ में जीवों और मनुष्य की रचना जी ब्रह्मा जी ने ही की थी इसके बावजूद भी वह ब्रह्मा जी से खुश नहीं थे क्योंकि हर तरफ उदासी ही उदासी छाई हुई थी ।

Read Also :  दक्षिणावर्ती शंख के उपाय | अगर आप घर में रखते हैं दक्षिणावर्ती शंख तो होगा लाभ

ब्रह्मा जी विष्णु जी के पास गए और उनसे अनुमति लेकर अपने कमंडल से कुछ जल की बूंदें उन्होंने पृथ्वी पर गिराई उनके कमंडल से गिरी हुई जल की बूंदों से मां सरस्वती का अवतार हुआ मां सरस्वती चार भुजाओं वाली देवी थी। जिनके एक हाथ में वीणा थी और दूसरा हाथ वर मुद्रा में था बाकी के अन्य हाथों में पुस्तक और कलम थी ब्रह्मा जी ने चार भुजाओं वाली देवी मां सरस्वती से उनकी वीणा बजाने का अनुरोध किया। मां सरस्वती के वीणा बजाने के साथ साथ ही सभी जीव जंतुओं को वाणी प्राप्त हुई थी देवी सरस्वती ने उन सभी जीव जंतुओं को वाणी के साथ-साथ विद्या और बुद्धि भी प्रदान की थी इसीलिए बसंत पंचमी के दिन हम मां सरस्वती की पूजा पूरे विधि विधान से और बड़ी धूमधाम से करते है।

Read Also :  जबड़े, कोहनी और कंधे पर तिल का महत्व

मां सरस्वती मंत्र
मां सरस्वती की पूजा करते हैं तो आपको इस मंत्र का उपयोग करना चाहिए क्योंकि इस मंत्र के बिना आप की पूजा अधूरी मानी जाती है :-

या कुन्देन्दु-तुषारहार-धवला या शुभ्र-वस्त्रावृता
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।
या ब्रह्माच्युत शंकर-प्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥

बसंत पंचमी शुभ मुहूर्त
इस साल बसंत पंचमी का त्यौहार 10 फरवरी 2019 को मनाने जा रहे है। बसंत पंचमी त्यौहार का आरंभ 9 फरवरी दोपहर 12:25 से शुरू हो जाएगा और यह है अगले दिन 10 फरवरी को दोपहर 2:08 तक रहेगा लेकिन पूजा का शुभ मुहूर्त है 10 फरवरी को सुबह 7:07 से लेकर 12:35 तक है।

Leave a Reply