Holi 2019: होली का महत्व, होली पर मिठाई

Holi 2019
Holi 2019

 

होली का त्यौहार हिंदू धर्म में बहुत महत्व रखता है। होली का त्यौहार हिंदू धर्म में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। होली एक ऐसा त्यौहार है जिस पर ना कोई धर्म देखता है सब लोग एक साथ मिलकर होली खेलते हैं। इस बार होली का त्यौहार 20 मार्च को मनाया जाएगा। 20 मार्च की रात को होली का दहन मनाया जाएगा और 21 मार्च को दुल्हडी यानी रंगो का त्यौहार मनाया जाएगा। आज हम आपको बताने वाले हैं होली 2019 में होली का महत्व और होली को कौन सी मिठाई बनानी चाहिए। होली पर मिठाई बनाने का विशेष महत्व होता है। होली के दिन लोग फूल मस्ती करते हैं और एक दूसरे को रंग लगाते हैं। इस दिन सभी लोग प्यार मोहब्बत से रहते हैं। तो आज हम आपको बताने वाले हैं ( Holi 2019 ) होली का महत्व, होली पर मिठाई।

 

होली का महत्व – holi ka mahatva :-

यह एक पौराणिक कथा भक्त प्रह्लाद और हिरण्यकश्यप के बीच की है एक बार एक हिरण्यकश्यप नामक एक घमंडी राजा था उसको अपने ऊपर बहुत ज्यादा घमंड था वह मानता था कि उससे बड़ा इस दुनिया में कोई नहीं है यहां तक कि भगवान भी नहीं है उसका एक बेटा था जिसका नाम था प्रह्लाद वह भगवान विष्णु की भक्ति किया करता था और भगवान उसकी भक्ति से बहुत प्रसन्न थे लेकिन वह राजा नहीं चाहता था कि उसका बेटा किसी भगवान की भक्ति करें क्योंकि वह राजा अपने आप को सबसे शक्तिशाली मानता था इसीलिए उसने अपने बेटे प्रह्लाद को मरवाने का निश्चय किया वह जब भी भक्त प्रह्लाद को मारने की कोशिश करता था तो वह जिंदा बच जाता था इस बात से वह राजा बहुत परेशान हो गया था तभी उस राजा को एक रास्ता नजर आया कि वह अपनी बहन होलिका की मदद लेते हैं होलिका को आग से न जलने का वरदान था अगर वह आग में चली जाती तो वह जलती नहीं थी तो उस राजा हिरण्यकश्यप ने सोचा की क्यों ना अपनी बहन की मदद ली जाए और इस भक्त प्रह्लाद को आग में जलाकर मार दिया जाए तभी वह अपनी बहन होलिका को याद करता है और उसको कहता है कि तुम भक्त पहलाद को लेकर आग में बैठ जाओ तो होलीका हां कह देती है और भक्त परलाद को लेकर आग में बैठ जाती है लेकिन भक्त प्रह्लाद भगवान विष्णु के बहुत बड़े भक्त थे तो भगवान विष्णु ने कुछ ऐसा चमत्कार किया की भक्त प्रल्हाद बच गया और होलीका इस आग में जलकर राख हो गई इसको बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक मानते हैं और इसी की याद में होली का त्यौहार मनाते हैं होली दहन में लोग अपने बुराइयों को जलाकर राख कर देते हैं

 

Read Also :  कान, नाक व होंठ पर तिल का महत्व ( होंठ पर तिल )
होली पर मिठाई :-

होली पर मिठाई बनाने का भी प्रावधान है। अगर हम होली को बड़ी धूमधाम से मनाते हैं तो होली का मजा दोगुना हो जाता है इसीलिए इस त्यौहार को बड़े धूमधाम से मनाते हैं। और लोग तरह – तरह की मिठाई और तरह तरह के पकवान बनाते हैं होली पर गुजिया को मुख्य माना गया है। गुजिया को बनाने की विधि बहुत आसान है सबसे पहले खोए और गुड़ को तैयार करके इसमें भरा जाता है और बाद में तेल में फ्राई किया जाता है जिससे हमारे स्वादिष्ट गुजिया बनकर तैयार है। मालपुआ को भी होली पर विशेष महत्व दिया गया है अक्सर लोग होली पर अपने घर में मालपुआ बनाते हैं। कुछ लोग होली पर चाट बनाना पसंद करते हैं चाट में जैसे दही भल्ला, चाट पापड़ी और गोलगप्पे जैसी चीजें बनाई जाती है। अगर तरल पदार्थों की बात की जाए तो तरल पदार्थ में दूध और ड्राई फ्रूट्स को मिलाकर तैयार की जाती है ठंडाई, अगर आप ठंडाई  पीते हैं तो आप पूरे दिन हाइड्रेटेड रहते हैं राजस्थान और गुजरात में सबसे ज्यादा कांजी को महत्व दिया जाता है होली के दिन लोग कांजी का सेवन अधिक करते हैं तो यह थे आज के हमारे ( Holi 2019 ) होली का महत्व, होली पर मिठाई ।

Leave a Reply